Home » Hindi Articles » किस उम्र में शादी होगी
Kis Umr Me Shadi Hogi

किस उम्र में शादी होगी

शादी जीवन की एक महत्वपूर्ण घटना है जिसके लिए हर किसी को कभी ना कभी इंतजार करना पड़ता है कभी-कभी यह इंतजार लंबा हो जाता है यदि ऐसा आपके साथ भी हो रहा है तो यह पोस्ट आपके लिए है इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि 16 साल से 30 साल की उम्र मैं शादी के योग कैसे बनते हैं।

16 साल की उम्र में शादी

यदि आप की उम्र 16 वर्ष है और शादी के लिए प्रयास कर रहे हैं तो एक विशेष ग्रह स्थिति होती है जो इतनी कम उम्र में शादी करने के लिए आवश्यक होती है।
बुद्ध जन्म कुंडली का एक ऐसा ग्रह है जो किसी भी कार्य में शीघ्र फल देने के लिए जाना जाता है यह ग्रह इंतजार नहीं करता इसलिए बुद्ध के फलस्वरूप जातक को इंतजार भी नहीं करना पड़ता 16 साल की उम्र में शादी तभी होती है जब कुंडली के सातवें घर पर बुध की कृपा हो। यदि बुध आपकी कुंडली के सातवें घर में स्थित है और उस पर शनि मंगल आदि किसी अन्य ग्रह की दृष्टि नहीं है या फिर कुंडली के सातवें घर का स्वामी बुध के साथ बैठा हो और पाप ग्रहों से दृष्ट ना हो तो बेहद कम उम्र में शादी का योग बन जाता है अर्थात इंतजार नहीं करना पड़ता।

17 साल की उम्र में शादी

जो ग्रह स्थिति हमने ऊपर बताई है वही ग्रह स्थिति 17 साल की उम्र में भी मान्य है फर्क केवल इतना है कि बुद्ध पर मंगल की दृष्टि हो तो 17 साल की उम्र मैं शादी का योग बनता है।

18 साल की उम्र में शादी का योग

यदि चंद्रमा कुंडली के सातवें घर में उच्च राशि स्वराशि या मित्र राशि में अकेला बैठा हो उस पर किसी पाप ग्रह की दृष्टि ना हो तो 18 वर्ष की उम्र में शादी हो जाती है इसके अतिरिक्त यदि बुध कुंडली के सातवें घर में बलवान होकर बैठा हो और बुद्ध पर राहु की दृष्टि हो तो 18 वर्ष की आयु में शादी का योग बनता है

19 वर्ष की उम्र में शादी

यदि जन्म कुंडली के सातवें घर में बुद्ध या चंद्रमा बलवान होकर बैठे हो या फिर सप्तमेश चंद्रमा बुध यश शुक्र संयुक्त हो अर्थात सातवें घर का स्वामी एक से अधिक शुभ ग्रहों के साथ हो और पाप ग्रहों की दृष्टि ना हो तो 19 वर्ष की उम्र में शादी हो जाती है।

20 वर्ष की उम्र में शादी

20 वर्ष की उम्र में शादी का योग कब बनता है जब सातवें घर का स्वामी या सातवें घर में चंद्रमा या बुध में से  कोई  भी शुभ ग्रह हो और उस पर शनि की दृष्टि हो मान लीजिए चंद्रमा कन्या राशि में सातवें घर में बैठा है और दसवें घर में शनि है तो 20 वर्ष की आयु में शादी का योग बनता है।

21 वर्ष की उम्र में शादी

यदि जन्म कुंडली में अकेला शुक्र या अकेला गुरु स्वराशि उच्च राशि या मित्र राशि में बिना किसी पाप ग्रह की दृष्टि से प्रभावित होकर बैठे हो तो 21 या 22 वर्ष की उम्र में शादी हो जाती है।

23 वर्ष की उम्र में शादी

यदि जन्म कुंडली के सातवें घर का स्वामी बुध गुरु चंद्र शुक्र इन में से किसी दो के साथ बैठा हो तो 23 वर्ष की उम्र में शादी का योग बनता है

24 वर्ष की उम्र में शादी

यदि जन्म कुंडली में अकेला शुक्र कुंडली के सातवें घर में अपनी राशि में बैठा हो और उस पर शनि की दृष्टि हो तो 24 वर्ष की उम्र में शादी हो जाती है

25 वर्ष की उम्र में शादी

बृहस्पति कुंडली के सातवें घर में बलवान होकर बैठा हो स्वराशि या उच्च राशि का ना हो और उस पर कोई पाप ग्रह की दृष्टि ना हो तो 25 वर्ष की उम्र में जातक की शादी हो जाती है

Leave a Reply

Advertisement