Home » Gemstone » खूनी नीलम
खूनी नीलम

खूनी नीलम

एक खास किस्म का नीलम जिसे खूनी नीलम कहा जाता है काफी चर्चित है इसके बारे में अधिकतर लोगों की धारणाएं लगभग एक जैसी है । कहते हैं कि यह खतरनाक नीलम है और अनुकूल ना होने पर जान का नुकसान भी कर सकता है। अधिकतर लोग खतरनाक समझ कर इसे पहनते ही नहीं। किताबों में भी इसके विषय में बहुत सावधानी बरतने को लिखा गया है तो आइए जानते हैं आखिर यह खूनी नीलम है क्या।

क्या है खूनी नीलम

नीलम कई रंगों में आता है नीले रंग बाला नीलम कहलाता है तो पीले रंग वाले नीलम को पुखराज कहते हैं परंतु कुछ नीलम मिश्रित रंगों के साथ आते हैं मसलन पीला और नीला मिश्रित इसे पितांबरी कहते हैं परंतु एक नीलम ऐसा आता है जिसमें नीले रंग के साथ साथ लाल रंग की आभा हो।

Red Tones of Bloody Sapphire - खूनी नीलम

रत्नों में ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव को सोखने की क्षमता होती है। परंतु कौन सा रत्न किस ग्रह को नियंत्रित करेगा यह निर्भर करता है उस रत्न के रंग पर। एक से अधिक रंग जब किसी रत्न में आते हैं तो उस रत्न में एक से अधिक ग्रहों का प्रभाव भी होता है खूनी नीलम में लाल और नीले रंग का मिश्रण होने के कारण लाल यानी मंगल और नीला यानी शनि का प्रभाव होता है।

गहरा रंग होने के कारण रत्न की मारक क्षमता और भी अधिक बढ़ जाती है जिस रथ में मंगल और शनि दोनों का प्रभाव हो वह रत्न निसंदेह खतरनाक साबित हो सकता है क्योंकि मंगल और शनि दोनों पाप ग्रह माने जाते हैं जिस जगह पर इन दोनों ग्रहों का प्रभाव होता है उसके विस्फोटक परिणाम होते हैं यही कारण है कि यह नीलम जिसे खूनी नीलम कहते हैं हर किसी को सूट नहीं करता।

खूनी नीलम कौन पहन सकता है।

आइए अब बात करते हैं खूनी नीलम किसे धारण करना चाहिए और किसे नहीं। किसी भी प्रकार के नीलम को पहनने के लिए आपकी कुंडली में शनि यदि शुभ है अभी आप नीलम पहन सकते हैं दूसरी और यदि कुंडली में मंगल निर्बल है बल हीन है तो आप मूंगा पहन सकते हैं यदि शनि आपका मित्र ग्रह है तो इस बात की संभावना काफी है कि मंगल आपका शत्रु ग्रह होगा और दूसरी और यदि मंगल आपका मित्र ग्रह है तो बहुत कम ऐसा होता है कि शनि भी आपका मित्र ग्रह हो क्योंकि दोनों ग्रह परस्पर विरोधी हैं। फिर भी यदि आपका मकर लग्न है और वृश्चिक राशि है तो दोनों ही ग्रह आपके लिए मित्रवत रहेंगे।नीचे दी गई अवस्थाओं में आप खूनी नीलम धारण कर सकते हैं।

  • यदि आपकी जन्मकुंडली में वृश्चिक लग्न और मकर राशि हो मंगल छठे आठवें या बारहवें स्थान में हो।
  • मेष राशि और मकर लग्न हो शनि में मंगल की महादशा चल रही हो
  • वृषभ लग्न और वृश्चिक राशि हो या वृषभ लग्न और मेष राशि हो
  • मेष लग्न और मेष राशि हो मंगल निर्बल हो और शनि अच्छे स्थानों में बैठा हो।
  • कुंभ लग्न और मेष राशि या मेष लग्न और कुंभ राशि हो।
  • मकर लग्न और मकर ही राशि हो मंगल चौथे 8 में 12 वीं घर में विराजमान हो और शनि इन स्थानों में ना हो

किन लोगों को खूनी नीलम नहीं पहनना चाहिए।

  • कर्क और सिंह लग्न या राशि वालों को यह रत्न छूना भी नहीं चाहिए।
  • यदि आपकी कुंडली में शनि की स्थिति छठे आठवें बारहवें स्थान में है तो खूनी नीलम आपके लिए नहीं है।
  • यदि आपकी जन्मकुंडली में मंगल यदि चौथे आठवें बारहवें घर में नहीं है तो खूनी नीलम मत धारण करें।
  • यदि आपकी मिथुन कन्या तुला वृष कुंभ मकर लग्न और राशि है तो खूनी नीलम आपके लिए नहीं है।
  • इसी तरह यदि आप की मेष और वृश्चिक राशि लग्न है तो खूनी नीलम आप नहीं धारण कर सकते। 

इसके अलावा अनेक ऐसे नियम हैं जो बताए जा सकते हैं कि आपको खूनी नीलम पहनना चाहिए या नहीं परंतु उनका उल्लेख करने के लिए एक किताब लिखनी पड़ेगी।
यदि आपको यह लेख पसंद आया तो कृपया लाइक अवश्य करें आपके लाइक और शेयर से मुझे प्रेरणा मिलेगी ऐसे ही और भी आर्टिकल लिखने की।