Home » Career Astrology » Detective as per astrology
Detective as per astrology

Detective as per astrology

Since ancient times, the detectives or Spy are considered as the backbone of the internal security of any nation. The most powerful countries in the world have very strong & well-known intelligence agencies, such as the US intelligence agency – CIA, Russia’s KGB, Israel’s Mossad, India’s RAW etc.

Everybody thinks that the life of a spy is thrilling & exciting and starts imaging that I could become a detective, spy, too. Spy does not mean a person will work for the government or for the military. Nowadays, rich people take the services of private detectives to get their work done. Even before getting married in big cities, people spying on the young man or the girl. The police often solve complex cases through private detectives.

Now we come to the astrology if we consider from the astrological point of view that which planets are responsible to make a person Spy, detective, investigator so that we may suggest a person that the planets in your horoscope are indicating that you are going to become a spy, detective in your life. In this way, he may work in this direction to choose this profession in his life.

Planets of a detective

Through the present article, I will try to share my experience with you that which planets in the horoscope of a person make him a successful detective, spy. In order to come to know if a person will become a successful detective, spy or not, First of all, the position of Mars and Mercury in the horoscope should be considered. You know, the work of spy is a hidden work and it is Rahu which represents the hidden activities. To keep the things secret and provide protection also comes in the sphere of work of a spy, huge cleverness is required for this. When we take the name of dexterity, then Mercury itself comes to us. Mercury is an expert in keeping the things secret. Rahu also keeps things confidential but the difference between Rahu and Mercury is that the activities of Rahu may expose, while Mercury’s not. Therefore, when the subject of a successful detective, the spy is considered, the Mercury plays a more important role than Rahu.

But it is not over, whenever the Mercury gets the company of Mars then the person becomes a detective or spy fully. He gets the fullness in this field. The closer the relationship between Mars and Mercury, the higher the level of the person’s success as a spy will be.

On the contrary, if the relationship between Mars and Mercury in the horoscope is not very much clear then the native will become only the reader of detective stories, i.e., the person will fulfill his dream of becoming a spy by reading the detective stories about mysterious secret activities.

Hindi Translation

प्राचीनकाल से ही जासूस या गुप्‍तचर किसी भी राष्‍ट्र की सुरक्षा की रीढ माने जाते है। विश्‍व के सबसे ताकतवर देशों के पास बहुत ही मजबूत गुप्‍तचर जांच एजेंसियॉं है, जैसेकि अमेरिका की गुप्‍तचर एजेंसी – सी.आई.ए., रूस की के.जी.बी., इसराईल की मोसाद, भारत की रॉ इत्‍यादि।

इनके बारे में सुनकर प्रत्‍येक व्‍यक्‍ति सोचने लगता है कि गुप्‍तचर का जीवन बडा ही रोमांचक होता है और कल्‍पना करता है कि काश मैं भी जासूस बन सकता हूँ। जासूस से अर्थ जरूरी नहीं कि सरकार के लिए या सेना के लिए जासूसी करने वाला ही जासूस होता है। आजकल तो अमीर लोग अपने काम करवाने के लिए निजी जासूसों की सेवाएं लेते है। बडे शहरों में विवाह करने से पहले युवक या युवती के बारे में भी लोग जासूसों के माध्‍यम से पडताल करवाते है। पुलिस भी बहुत बार प्राईवेट जासूसों के माध्‍यम से जटिल केस हल करती है।

यदि ज्‍योतिषिय दृष्‍टिकोण रखकर विचार किया जाए कि वे कौन से ग्रह है जो किसी व्‍यक्‍ति को जीवन में एक सफल जासूस बनाते है तो हम किसी व्‍यक्‍ति को सलाह दे सकते है कि उसकी जन्‍मकुंडली के ग्रह उसको एक जासूस बनाने की ईशारा कर रहे है तो वह व्‍यक्‍ति जासूस बनने का प्रयास कर सकता है।

प्रस्‍तुत लेख के माध्‍यम से मैं आपको यह बताने का प्रयास करूंगा कि एक सफल गुप्‍तचर, एक सफल जासूस कौन से ग्रह बनाते है। एक सफल जासूस बनने के लिए जन्मकुंडली में मंगल और बुध की स्‍थिति पर विचार किया जाता है। गुप्‍त गतिविधियों के लिए राहु की स्‍थिति पर भी विचार करना चाहिए। गुप्‍तचर का कार्य गुप्‍त रहकर सुरक्षा प्रदान करना है, इसके लिए बहुत ही ज्‍यादा चतुराई की आवश्‍यकता होती है और जब हम चतुराई का नाम लेते है तो बुध स्‍वयं ही हमारे समक्ष आ जाता है। बुध ग्रह से प्रभावित व्‍यक्‍ति चतुराई के साथ-साथ चीजों को गुप्त रखने में माहिर होते है। राहु भी चीजों को गुप्‍त रखता है परन्‍तु राहु और बुध में अंतर ये है कि राहु की गतिविधियां कभी-ना-कभी उजागर हो जाती है जबकि बुध से प्रभावित व्‍यक्‍तियों के बारे में दूसरे कभी नहीं जान पाते। इसलिए जब सफल जासूस के विषय पर विचार किया जाता है तो बुद्ध ग्रह राहु से अधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

विषय यही समाप्‍त नहीं होता, बुध को जब मंगल का साथ मिलता है तो व्यक्ति पूरा जासूस बनता है। मंगल और बुध का संबंध जितना अधिक घनिष्ठ होगा, व्यक्ति के जासूस के रूप में सफल होने का स्‍तर उतना ही उंचा होता जाएगा।

मंगल और बुध की निम्न स्थिति जातक को जासूसी कथाओं का केवल मात्र एक पाठक बना कर रख देगी यानि व्यक्ति रहस्यमय गुप्त गतिविधियों संबंधी जासूसी कहानियों को पढ़कर अपनी क्षुधा शांत कर लेगा

Advertisement