Home » Gemstone » एक रत्न जो बदल दे जिंदगी

एक रत्न जो बदल दे जिंदगी

बहुधा देखा जाता है कि कुछ लोग अपनी सभी उँगलियों में तरह तरह के रत्न धारण करते हैं | कुछ लोग रत्नों को पहनना जरूरत समझते हैं और कुछ लोगों का यह शौक बन गया है | जिनका रत्नों के प्रति लगाव है उनकी बात तो ठीक है परंतु जो लोग किसी ज्योतिषी के कहने कई कई रत्न न चाहते हुए भी धारण कर लेते हैं उनके लिए कुछ विशेष बातें मैं शेयर करना चाहूँगा |

हाल ही में द्विवेदी जी जो कि जयपुर के प्रसिद्द बिजनेसमैन हैं से मेरी मुलाकात हुई | उनके हाथों में मूंगा मोती, गोमेद और पन्ना पहने देखकर मैं हैरान रह गया |

यदि आप जानते हैं कि मूंगा मंगल का मोती चंद्र का और पन्ना बुध का रत्न है | गोमेद राहू का रत्न माना जाता है और मंगल की बुध से और चंद्र की राहू से शत्रुता रहती है | तो अब यदि इन ग्रहों का मिलन आपने अपनी उँगलियों में करवा दिया तो आप क्या आशा रखते हैं ? ये सभी रत्न आपको फायदा पहुंचाएंगे ? यदि नहीं तो कैसे और यदि हाँ तो किस सिद्धांत से |

प्रश्न केवल शत्रुता का नहीं है वरन इतने रत्न एक ही व्यक्ति को एक ही समय में फायदा पहुंचा सकते हैं या नहीं इस बात का है | मेरे विचार में यदि ये सभी रत्न आपको Suit भी करें तो भी इनका कोई न कोई तो side effect  जरूर होगा | इस सन्दर्भ में एक अलग लेख की जरूरत है जो जल्द ही अन्यत्र प्रसारित किया जायेगा |

If you want to ask something you can whats app using the image link below. 

Ask Your Question on Whatsapp

एक रत्न आपके धन की रक्षा के लिए है दूसरा आपके स्वास्थ्य के लिए हो सकता है तीसरा किसी प्रकार के वाद विवाद या सुरक्षा के उद्देश्य से आपने पहना होगा | और भी कई कारणों से व्यक्ति इतने रत्न पेहेनते हैं |

मैं तो ऐसे किसी एक रत्न की बात कर रहा हूँ जिससे आपके उपरोक्त सभी काम बन जाएँ या अधिकतर काम एक ही रत्न के माध्यम से बन जाएँ | क्या किसी विद्वान को ये नहीं करना चाहिए कि दो तीन चार या अधिक रत्नों के स्थान पर किसी एक रत्न पहनने की सलाह दी जाए जो कि मेरी दृष्टि में संभव है | हाँ कठिन अवश्य है परंतु संभव है | कैसे आइये जानते हैं |

हर व्यक्ति की कुंडली में आत्मकारक ग्रह होता है जिसका प्रभाव व्यक्ति पर सर्वाधिक होता है | हो सकता है कि हर व्यक्ति पर एक से अधिक ग्रहों का प्रभाव हो परंतु एक ग्रह ऐसा भी होता है जो आपके ऊपर अपना सर्वाधिक असर छोड़ता है | उसी ग्रह को आत्मकारक ग्रह की तरह से मानना चाहिए जो कि सर्वथा उचित है
अब यदि आप उस ग्रह से सम्बंधित रत्न पहनेंगे तो न केवल आपको वह रत्न suit करेगा बल्कि आपको हर तरह से सुरक्षा भी प्रदान करेगा |

इस विषय पर केवल जन्मकुंडली ही नहीं बल्कि हाथों की लकीरों को देखना भी आवश्यक है साथ ही अंक विद्या का भी सहारा लिया जा सकता है |

यदि आप भी अपने लिए किसी ऐसे ही रत्न की तलाश में हैं तो संपर्क करें

Ashok Prajapati

Best one Lucky stone

Leave a Reply

Advertisement