Home » Hindi » कैसा है आपका शुक्र
Introduction to Venus

कैसा है आपका शुक्र

शुक्र एक ऐसा ग्रह है जो हमारे जीवन को सुन्दरता से भर देता है I इस जीवन में जहाँ भी प्रेम है वहां शुक्र है I शुक्र ही हमें सोंदर्य का बोध करता है I वास्तव में शुक्र ही सुन्दरता है I दुनिया में जो कुछ भी हम खूबसूरत देखते हैं वह सब शुक्र के ही आधिपत्य में आता है I प्रेम के बिना संसार में कोई भी व्यक्ति अपने आप को अधूरा महसूस करता है I यह प्रेम जिस व्यक्ति के मन में जितना अधिक होगा उतना ही उस पर शुक्र का प्रभाव समझना चाहिए I इस ग्रह के कमजोर होने की दशा में व्यक्ति के जीवन का कोई महत्त्व नहीं रह जाता |
करोड़ों युवा जिस प्रेम के लिए यहाँ वहां भटकते हैं वह शुक्र ही है I सुख सुविधा के लिए किया जाने वाला खर्च शुक्र ही करवाता है क्योंकि सुख सुविधा का सामान जैसे गाडी, बंगला, वाहन यह सब शुक्र के ही कारण व्यक्ति को मिलती हैं |

आधुनिक जीवन में कंप्यूटर पर भी शुक्र का ही प्रभाव होता है I वे सभी काम जो डिजाईन से सम्बंधित होते हैं वे सब शुक्र के ही आधिपत्य में आते हैं |

फिल्मों का संसार बहुत सुन्दर होता है I इस संसार को भी शुक्र ही चमकाता है I सुगन्धित पदार्थ, सज सजावट की वस्तुएं, श्रींगार का सामान, पहनने के कपडे, बाहरी वस्त्र, सुन्दर प्रेमिका या पत्नी, विवाह सम्बंधित सभी वस्तुएं, कार, स्कूटर, साईकिल से लेकर निजी विमान तक सभी कुछ शुक्र के कारण ही हमें मिलते हैं I

आपकी प्रेमिका कैसी होगी I पत्नी कैसी होगी I पत्नी से कितनी निभेगी I आपकी पत्नी आपसे कितना प्यार करेगी I विवाह के बाद आपका जीवन कैसा होगा इन सब प्रश्नों का उत्तर आपकी कुंडली में बैठा शुक्र दे सकता है I

कभी कभी सब कुछ होते हुए भी कुछ नहीं होता और कभी कभी कुछ न होते हुए भी किसी चीज की इच्छा नहीं रहती I  इस संतोष का कारण भी शुक्र ही है I
जब तक आपका शुक्र अच्छा होता है आपके पास मित्रों की कमी नहीं रहती I आपके सभी काम थोड़े से प्रयास से ही हो जाते हैं I आपके जरा से आदेश से आपके सब काम हो जाते हैं I यह सब शुक्र ही करवाता है I

आपका रुतबा, यश या आपके वे सब काम जो आपकी जानकारी के बिना दूसरे लोग स्वयं ही समझ कर कर देते हैं या यूं कहिये कि दूसरों के द्वारा आपके लिए किये गए सब कार्य शुक्र के द्वारा ही संभव होते हैं I
वास्तव में शुक्र एक बहुत ही जटिल ग्रह है I इसका स्वभाव चंचल है I कभी तो आपके पास सब कुछ रहता है और कभी सब कुछ चला जाता है I इस बात का पता शुक्र से लगाया जा सकता है कि कब आपके पास सब सुख सुविधाएँ होंगी और कब आप इन सब चीजों के लिए संघर्ष करेंगे I

शुक्र के विपरीत होने पर व्यक्ति के कपडे मैले हो जाते हैं या उसके पास ढंग के कपडे नहीं रहते या यूं कहा जा सकता है कि उसे ढंग के कपडे नहीं मिलते I किसी स्त्री से नहीं बनती या स्त्रियों से वैर रहता है I पत्नी या प्रेमिका से दूरियां या मतभेद शुरू हो जाते हैं I शुभ कामों में मन नहीं लगता I जब भी घर में कोई मंगल कार्य होने वाला हो उस समय कुछ न कुछ अशुभ हो जाता है I शूगर का हो जाना, कन्या संतान का मर जाना I पत्नी से वियोग या प्रेमिका से बिछड़ जाना I नशे में धुत्त रहना यह सब शुक्र के कुप्रभाव के कारण ही होता है I

क्या करें यदि शुक्र हो अशुभ

शुक्र मन्त्र का प्रतिदिन तीन माला जप करने से केवल चालीस दिन में शुक्र के कुप्रभाव से मुक्ति मिलती है | माला स्फटिक की हो या फिर रुद्राक्ष की | जप करने के लिए मुख उत्तर दिशा की ओर हो और समय सुबह का हो | आसन सफेद रंग का प्रयोग करें | मन्त्र इस प्रकार है …

ॐ द्रां द्रीं द्रों स: शुक्राय नमः

Leave a Reply

Follow me on Twitter