Home » Hindi » असली रत्नों को मात करते कुछ उपरत्न
substitute gemstone, Upratna or Imitation Gemstones

असली रत्नों को मात करते कुछ उपरत्न

अक्सर लोग कुच रत्नो को उपरत्न समझ कर पहन लेते हैं | लोगों को पता ही नहीं होता कि उपरत्न और असली रत्न में क्या फर्क है | माणिक मोती मूंगा आदि की तरह ही कुछ ऐसे रत्न हैं जिनका अपना अलग स्वभाव होता है | यह भी रत्न हैं जो अन्य रत्नों की तरह उत्पन्न होते हैं | इन्हें उपरत्न की संज्ञा नहीं दी जानी चाहिए |

मुझे बचपन से ही रत्न पहनने का शौक था | मैंने लगभग हर रत्न को आजमा कर देखा है | बंगाल के एक बाबा ने मुझे उपरत्नों के बारे में काफी जानकारी दी थी | फिर मैंने उस ज्ञान पर इन रत्नों को परख कर देखा तो जो सत्य मैंने पाया किया वह इस प्रकार है |

फिरोजा
फिरोजा एक सस्ता रत्न है | आसानी से उपलब्ध हो जाने वाला फिरोजा नीला और हरा मिश्रित रंग का होता है | इस रत्न को सजावट के लिए अधिक पहना जाता है | अधिकतर लोग केवल इतना ही जानते हैं परन्तु इस उपरत्न विशेषता है कि यह दो ग्रहों के शुभ प्रभाव को बढाता है | अन्य कोई ऐसा रत्न नहीं है जो दो ग्रहों को शांत करता हो शनि और बुध मिलकर व्यक्ति को नपुंसक बनाते हैं और फिरोजा नपुंसकता को नष्ट करता है | जुए और सट्टे की लत से छुटकारा दिलाता है, शराब छुडवाने के लिए भी फिरोजा पहना जा सकता है | इसे पहनने से व्यक्ति कूटनीति में सफलता प्राप्त कर सकता है | हर किसी को यह रत्न लाभ नहीं देता परन्तु जिस किसी को यह रत्न माफिक आ जाए उसका हर शत्रु से बचाव करता है |
काला जादू या तांत्रिक क्रियाकलाप में फिरोजा बहुत काम आता है | यदि फिरोजा पहना है तो भूत प्रेत और बुरी नजर से बचाव करता है | इसके अतिरिक्त फिरोजा ग्रह स्थिति के अनुसार अपना प्रभाव दिखाता है | बहुत कम लोग जानते हैं कि उत्तम फिरोजा केवल रंग से पहचाना जा सकता है | लोग फिरोजी रंग के हकीक के नीचे लाख लगाकर भी बेचते देखे गए हैं | फिरोजा यदि असली मिल जाए तो लाख तो उसके नीचे होगी ही परन्तु इसका रंग और आभा देखकर आप मन्त्र मुग्ध हो जायेंगे | बेहद आकर्षक यह रत्न जितना सुन्दर लगता है उतना ही यह प्रभाव भी देता है |

हकीक
हकीक एक बहुत ही सस्ता और शीघ्र असर दिखाने वाला रत्न है | इसे एक बार पहन लेने के बाद आपको गुस्सा नहीं आएगा | हकीक के बारे में कहा जाता है कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता परन्तु यह सच नहीं है | 95% लोगों के लिए यह रत्न शुभ होता है बाकी के लोग इसे पहनने से बेचैनी, घबराहट, चिंता और डर का अनुभव करेंगे |
हकीक लगभग सभी रंगों में आता है | लाल रंग का हकीक उत्तम माना जाता है | यह रत्न जितना छोटा होगा उतना ही इसका प्रभाव अधिक होगा और जितना बड़ा होगा उतना कम प्रभाव देगा |
सफेद रंग का हकीक शुक्र का, लाल रंग का हकीक मंगल का, भूरे रंग का हकीक सूर्य का, पीला हकीक गुरु यानी बृहस्पति का, और काला हकीक राहू का प्रभाव देता है | मिश्रित रंगों के हकीक भी पाए जाते हैं जो रंगों के अनुसार अपना प्रभाव दिखाते हैं | हकीक से आपके व्यक्तित्व का विकास होता है | जल्दबाजी की प्रवृत्ति पर नियंत्रण रखने में सहायक है | मुसीबत से बचाता है और मित्रों को आकर्षित करने में भी सहायक सिद्ध होता है |
रहस्य की बात ये है कि हकीक से आध्यात्मिक क्षेत्र में मदद करता है | यदि आपका पूजा पाठ और धार्मिक
क्रियाकलाप में मन नहीं लगता है तो हकीक आप ही के लिए है |

सफेद मूंगा
सफेद मूंगा एक बहुत ही चमत्कारी रत्न है | बनावट में यह लाल मूंगे जैसा ही होता है परन्तु इसका रंग सफेद होता है | सफेद मूंगा शुक्र का रत्न है | केप्सूल आकार का मूंगा अधिक लोकप्रिय है | उपरत्नों में मैंने स्वयं इसका प्रभाव देखा है | शुक्र के दुष्प्रभाव को ज्यादा नहीं तो कम से कम ६० प्रतिशत तक कम कर देता है | हर जगह एक ही बात पढने सुनने में मिलती है कि जितने वजन का रत्न होगा उतना ही लाभकारी होगा परन्तु सुनी सुनाई बातों पर विशवास करने की बजाय खुद परख कर देखना चाहिए कि चीजें कैसे काम करती हैं | जो रत्न पहना जा रहा है उसका वजन उतना ही होना चाहिए जितने बल या शक्ति की आपकी जन्मकुंडली में बैठे ग्रह को आवश्यकता है | यदि शुक्र नीच राशि में है तब तो सफेद मूंगा पहनिए ही मत | शुक्र का असली रत्न हीरा ही आपके शुक्र के प्रभाव को कुछ शांत कर सकता है | उपरत्न या तो टूट जायेगा या किसी और वजह से आपकी ऊँगली से निकल जायेगा | सफेद मूंगा तब पहनें जब आपकी कुंडली में शुक्र अस्त या मंगल, शनि राहू से युत {Conjunction} या दृष्ट है |
इसके अतिरिक्त जिन लोगों को शुगर हो उनके लिए सफेद मूंगा बहुत लाभप्रद सिद्ध होता है | शुक्र के कारण व्यक्ति को शुगर का रोग लगता है | यदि सफेद मूंगा पहन लिया जाए तो शुगर कंट्रोल में रहती है |

Leave a Reply

Follow me on Twitter