Home » Hindi » क्या अंक बोलते हैं

क्या अंक बोलते हैं

अंक बोलते हैं

क्या वाकई अंक बोलते हैं – The Hidden Secrets of Numerology

अंक हमारे जीवन से जुड़े कुछ ऐसे विशेषण हैं जो न केवल हमारे जीवन को प्रभावित करते हैं बल्कि एक भविष्य से जुड़ी पूर्व सूचना भी देते हैं । अंक ज्योतिष (Numerology) से भविष्य को बड़ी ही सरलता से समझा जा सकता है । अंक ज्योतिष एक ऐसा विषय है जिसे बिना ज्योतिष के गहन अध्ययन के भी समझा जा सकता है । कोई भी ज्योतिष का सामान्य ज्ञान रखने वाला व्यक्ति अंक ज्योतिष के द्वारा सटीक भविष्यवाणी कर सकता है । कम से कम आप अपने विषय में तो पता लगा ही सकते हैं कि अमुक अंक आपके लिए कैसा रहेगा ।

Font Problem? Download Numerology PDF Version

Read English Version

सबसे पहले अंक और उनसे जुड़े ग्रहों को जान लेना आवश्यक है ।

अंक एक सूर्य का प्रतिनिधित्व करता है । अंक दो चन्द्रमा का, अंक तीन गुरु यानि बृहस्पति का, अंक चार हर्षल, अंक पांच बुध, अंक छह शुक्र, अंक सात नेपच्यून अंक आठ शनि और अंक नौ का प्रतिनिधित्व मंगल करता है ।
अंकों से भूत भविष्य और वर्तमान का रहस्य जानने के लिए सबसे पहले आप अपने जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण घटनाएं नोट कर लीजिये । जैसे कि आपकी जन्म तारिख क्या है । किस दिन आपने कोई महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की । किस दिन आपकी शिक्षा पूर्ण हुई या फिर किस दिन आपने कोई डिग्री हासिल की । यह देखें किस दिन आपकी शादी हुई । उस दिन क्या तारिख थी जब आप सबसे पहले अपने जीवन साथी से मिले थे । आपके जीवन साथी की जन्म तारिख क्या है । आपका विवाह किस तारिख को हुआ और आपकी पहली संतान किस तारिख को हुई । उस दिन क्या तारिख थी जब आपको जीवन में सबसे अधिक ख़ुशी मिली । उस दिन क्या तारीख थी जब आपने पहली बार नौकरी Join की । किस दिन को आपका स्थानान्तरण हुआ और किस दिन आपको Promotion मिली ।

अंक ज्योतिष से अच्छा और बुरा दोनों का पता लगाया जा सकता है । ये सब तो हुई कुछ अच्छी घटनाएं, अब आप वे सभी दिन याद कीजिये जिन तारीखों में आपने कुछ खोया था । जैसे कि परिवार से जुड़ी कुछ घटनाएं और विवाद ।

जब आपके पास अपने जीवन से जुड़े सभी अच्छे और बुरे दिनों से सम्बंधित तारीखों का विवरण हो तो समझ लें कि अब आप अपने लिए कोई एक अंक निर्धारण कर सकते हैं । आप उस अंक का पता लगा सकते हैं जिसकी आपके जीवन में बार बार आवृत्ति हुई है ।
हर व्यक्ति के जीवन से कोई न कोई अंक ऐसा जुड़ा होता है जो व्यक्ति के जीवन में बार बार घटित होता है । उदाहरण के लिए किसी भी महीने की नौ, अठारह, सत्ताईस तारीखों में जन्म लेने वाले व्यक्तियों के जीवन में कुछ भी अच्छा बुरा इन्ही तारीखों में होता है ।
मेरे एक परिचित के साथ जब भी कुछ अच्छा होता है तो उस दिन ६, १५, २३ इन में से कोई न कोई तारीख अवश्य होती है । विवाह कि सालगिरह २३ जनवरी, प्रथम संतान, १५ जुलाई, स्थानान्तरण १५ अक्टूबर और उनकी गाडी का नंबर १३५६ है जो कि ६ दिसम्बर २००४ को खरीदी गयी थी । उनके अनुसार उनके पेट का ऑपरेशन ३ मई २०१० को हुआ तथा पिता का स्वर्गवास १२ सितम्बर, पैर में चोट २१ जनवरी २०११ को तथा दूसरी बार आपरेशन ३० अगस्त को हुआ था ।

इन सब से यह आसानी से समझा जा सकता है कि अंक ६ उनके जीवन में जहाँ खुशियाँ लेकर आता है वहीँ अंक तीन विवाद और मुसीबतों को लेकर घटित होता है । यदि इस तरफ और गहराई से देखा जाये तो बिना किसी ज्योतिषी कि सलाह के आप अपने शुभ अंक वाली तारीख को अपना कोई महत्वपूर्ण कार्य कर सकते हैं और बुरी तारीखों से बचकर उन दिनों में कुछ भी नया करने से परहेज किया जा सकता है ।
इस तरह आप स्वयं पता लगा सकते हैं कि कौन सा अंक आपके लिए शुभ है और कौन सा अंक अशुभ ।  अशुभ अंक से बचने के लिए अपने घर का, गाडी का या फोन का नंबर निर्धारित करके शुभ फल प्राप्त कर सकते हैं और अशुभ अंकों से सर्वथा अपना बचाव कर सकते हैं । अंक बोलते हैं बस जरूरत है हमें यह समझने की कि अंक क्या बोलते हैं ।

Leave a Reply

Follow me on Twitter